Breaking News
Home » गोंडा » जहां सुख की अति होगी, धर्म वहां से दूर चला जायेगा : रमेश भाई शुक्ल

जहां सुख की अति होगी, धर्म वहां से दूर चला जायेगा : रमेश भाई शुक्ल

देवीपाटन मण्डल
ब्यूरो चीफ पुनीता मिश्रा

गोण्डा 11 जनवरी। भगवान राम धर्म के प्रतीक हैं। प्रभु कृपा से गन जहां सुख-समृद्धि की अति हो जाती है, धर्म वहां से दूर चला जाता है, जैसे राम विवाह के बाद अयोध्या में अति सुख होने पर राजा को वन गमन करना पड़ा। यह बात अखिल भारतीय श्री राम नाम जागरण मंच के तत्वाधान में प्रदर्शनी मैदान में चल रही राम कथा के नवें दिन अंतरराष्ट्रीय कथावाचक रमेश भाई शुक्ल ने कही। वह गुरुवार को राम वन गमन की कथा सुना रहे थे।
उन्होंने कहा कि राम विवाह के बाद अयोध्या में अति सुख आ गया था। राम के वनवास में अनेक कारणों के साथ एक कारण यह भी था। जब भी हम अति सुखी होंगे, राम (धर्म) हमसे दूर हो जाएगा। व्यास पीठ ने कहा कि अपनी सर्वत्र प्रशंसा सुनकर राजा दशरथ तुरन्त सजग हो गए थे और उन्होंने दर्पण देखकर तय कर लिया था कि अब बाल सफेद होने लगे हैं। इसलिए हमें गद्दी छोड़कर (जिम्मेदारियां सौंपकर) भगवत भजन में लग जाना चाहिए। उन्होंने इस कार्य के लिए गुरु वशिष्ठ से शुभ मुहूर्त के बारे में पूछा तो गुरु जी ने यथाशीघ्र (बेगि) यह कार्य करने को कहा। राजा दशरथ ने राजतिलक का कार्य अगले दिन करने का निर्णय करके तैयारी करने का निर्देश दिया, किन्तु रात भर में ही सब कुछ उलट-पुलट गया। इसलिए हमें किसी भी प्रकार के शुभ कार्य को टालना नहीं चाहिए। शुक्ल ने कहा कि बीता हुआ और आने वाला कल पर हमारा कोई बस नहीं है। इसलिए जो भी करें आज करें।
कथावाचक ने कहा कि भगवान राम धर्म, सीता शांति, लक्ष्मण वैराग्य, राजा दशरथ काम, कैकेयी क्रोध और मंथरा लोभ की प्रतीक हैं। काम, क्रोध और लोभ जब एकत्रित हो जाएंगे, तो धर्म, शांति और वैराग्य का निष्कासन तय है। भगवान राम ने 14 वर्ष की वनवास की अवधि में राम राज्य की स्थापना की व्यवस्था की थी। समाज के सबसे दबे, कुचले और कमजोर वर्ग के लोगों को अपना मित्र बनाया। समाज में ऊंच-नीच का भेदभाव खत्म करने का प्रयास किया। इस मौके पर कथा के आयोजक निर्मल शास्त्री, कैप्टन आरयू पांडेय, डॉ प्रभा शंकर द्विवेदी, आशीष कुमार पांडेय, सूबेदार शुक्ला, जगदम्बा प्रसाद शुक्ला, सभाजीत तिवारी, संदीप मेहरोत्रा, ईश्वर शरण मिश्र, विनय चतुर्वेदी, प्रदीप दीक्षित, हरी कृष्ण ओझा, राज कुमार मिश्र आदि उपस्थित रहे।

Check Also

बलात्कार पीड़ित महिला द्वारा आत्महत्या करने के प्रकरण में शव आने के बाद परिजनों ने दाह संस्कार से इनकार करते हुए किया प्रदर्शन

रिपोर्ट विशाल मिश्रा कर्नलगंज गोंडा -बलात्कार पीड़ित महिला द्वारा आत्महत्या करने के प्रकरण में पोस्टमार्टम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *